नरेंद्र मोदी दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के पहले चरण का उद्घाटन करते हैं

रविवार को नई दिल्ली में दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के उद्घाटन से पहले एक सड़क शो के दौरान प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी। | फोटो क्रेडिट: आरवी मूर्थी

ज्यादा में

एक्सप्रेसवे इस क्षेत्र में सबसे व्यस्त राजमार्ग दिल्ली-मेरठ रोड पर 31 यातायात संकेतों को दूर करेगा।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को ,500 7,500 करोड़ रुपये दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के पहले चरण का उद्घाटन किया जो यात्रा के समय को काफी कम कर देगा।

श्री मोदी ने यूपी गेट में दिल्ली में सराई काले खान को फैले 14-लेन राजमार्ग का उद्घाटन करने के बाद राजमार्ग के दोनों किनारों पर इकट्ठे भीड़ में लहराते हुए एक खुली कार में घुसपैठ की।

सड़क परिवहन और नौवहन मंत्री नितिन गडकरी भी मोदी के साथ एक अलग खुली कार में सवार हो गए।

निजामुद्दीन पुल से रोड शो शुरू हुआ, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के लगभग 9 किलोमीटर के पहले चरण की शुरुआत। खिंचाव पर 6 किमी की यात्रा के बाद, वह देश के पहले स्मार्ट और हरे राजमार्ग, पूर्वी परिधीय एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करने के लिए उत्तर प्रदेश में बागपत गए।

परियोजना पर सरकार द्वारा जारी एक विज्ञापन के मुताबिक, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के पहले चरण में 14-लेन राजमार्ग के 9 किलोमीटर के खिंचाव के निर्माण पर 842 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे।

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे, जिसमें दिल्ली और दसना के बीच लगभग 28 किलोमीटर की दूरी पर समर्पित साइकिल ट्रैक होंगे, दिल्ली और मेरठ के बीच यात्रा का समय ढाई घंटे से 45 मिनट तक घटाएंगे। परियोजना की कुल लंबाई 82 किमी है, जिसमें से पहले 27.74 किमी 14-लेन वाली होगी, जबकि बाकी 6-लेन एक्सप्रेसवे होंगे।

एक्सप्रेसवे इस क्षेत्र में सबसे व्यस्त राजमार्ग दिल्ली-मेरठ रोड पर 31 यातायात संकेतों को दूर करेगा, और इसे सिग्नल-फ्री बना देगा।

श्री मोदी ने दिसंबर 2015 में दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे की नींव रखी थी जो कि 7,566 करोड़ रुपये की लागत से बनाई गई थी।

यह परियोजना चार खंडों में बनाई जा रही है- निजामुद्दीन ब्रिज से यूपी सीमा, यूपी सीमा से दसना, दशना से हापुर और हापुर मेरठ तक।

इसके अलावा, एनएच 24 के 22 किमी लंबे दशना-हापुर खंड के छः लेन-देन की लागत 1,122 करोड़ रुपये होगी।

NO COMMENTS