राशिफल 22 दिसंबर 2020 Aaj ka Rashifal: आज गुरु और शनि की युति के कारण स्थिति अच्छी है वृषभ राशि के लोगों को आज पढ़ा हुआ धन वापस मिलेगा राशिफल

35

योजनाओं की स्थिति-राहु वृषभ राशि में हैं। शुक्र और केतु वृश्चिक राशि में हैं। सूर्य और बुध धनु राशि में हैं। गुरु और शनि मंत्र राशि में हैं। मंगल और चंद्रमा मीन राशि में लक्ष्मी योग बनाकर जा रहे हैं। गुरु और शनि के संयोग के अलावा योजनाओं की स्थिति ठीक चल रही है।

राशिफल-
मेष-खर्च की अधिकता, अज्ञात भय, अनिद्रा, दृष्टि विकार आदि से जूझेंगे। कोई बड़ी परेशानी नहीं होने वाली है। थोड़ा डिस्टर्ब फील जरूर करेंगे। स्वास्ठ्य मध्‍यम, प्रेम,, दृष्टिकोणपट लगभग-लगभग ठीक रहेगा। बजरंग बली की अराधना करते रहें।

वृषभ-रुका हुआ धन वापस मिलेगा। आय के नव स्रोत बन जाएगा। शुभ विचारों की प्राप्ति होगी। अत्मंत सुखमय समय है। स्वास्तथ्‍य पर जरूर ध्‍यान दें। मध्‍यम चल रहा है। प्रेम, संक्षिप्तीकरण आपके लिए चल रहा है। लाल वस्तु का दान करते रहो।

मिथुन-कोर्ट कचहरी में विजय के संकेत हैं। सरकारी तंत्र से लाभ मिल सकता है स्वास्ठ्य पाठ, प्रेम मध्‍यम, वैज्ञानिक दृष्टिकोण से अनिश्चित समय है। हनुमान मंदिर में मसूर की दाल दान करें। होगा।

कर्क-भागमित्र साथ देगा। अच्छी स्थिति दिख रही है। प्रेमालाप होगा। नवप्रेम का आगमन हो सकता है। नए दृष्टिकोण की शुरुआत या उसकी बातचीत, कुछ पहल सामन संभव है। बजरंग बाण का पाठ निरंतर करते रहें।

सिंह-किसी परेशानी में पड़ सकते हैं। चोट लग सकती है। विपरीत परिस्थितियाँ दिख रही हैं। बचकर पार। स्वास्तथ्य, प्रेम मध्‍यम है। दृष्टिकोणपट लगभग-लगभग ठीक दिख रहा है। हनुमान चालीसा का पाठ करते रहें। बजरंग बली की अराधना करते रहें।

कन्यय-जीवनसाथी का सनाध्‍य मिलेगा। रोज़ी-रोजगार में तरक़्क़ी करेंगे। स्वास्तथ्‍य मध्‍यम से अच्‍छे की ओर है। दृष्टिकोणपट और प्रेम परवान चढ़ रहा है। बजरंग बली की अराधना करते रहें।

पेटेंट-वकीलों पर भारी पड़ रही है। बुजुर्गों का आशीर्वाद मिलेगा। कुछ रहसय सामने आएंगे जो आपके हक में होंगे। स्वास्तथ मध्‍यम, प्रेम करीब-करीब मध्‍यम, चेताप ठीक चलेगा। हनुमान जी की अराधना करते रहें।

वृश्चिक-भावनाओं में बहकर कोई निर्णय न लें। पुलिस, सेना, एनसीसी, जो वर्दी वाले लोग हैं, उनके लिए आज विशेष फायदे का दिन रहेगा। स्वास्ठ्य ठीक है, प्रेम में कोलाहल, स्वच्छात्मक दृष्टिकोण से सही चल रहे हैं आप। पीली वस्तु पास रखना।

धनु-स्थिति भली है। जमीन से समतुल्य कुछ काम आपकी इच्छाशक्ति। माँ के स्वयंसथ्‍य पर ध्‍यानन दें। गृहकलह से दूर। स्वयंसथ्‍य मध्‍यम, प्रेम,, व्‍यापकता और चल रहा है। केसर का तिलक पाते हैं। बजरंग बाण का पाठ करें।

मकर-विश्रामक्रम करने का समय है। परियोजनाओं को कार्यरूप दें। एक शुभे समय की बात कही जा सकती है इस समय। स्वास्तथ्य, प्रेम, सतर्कता सब कुछ अद्भुत दिख रहा है। हनुमान जी की अराधना करते रहें।

गूढ़-कठोर भाषा के प्रयोग से। किसी को भी नकद रुपए न दें। रोकें जरा। स्वयंसथ्‍य मध्‍यम, प्रेम,, भावप्रधान भी चल रहा है। लाल वस्तु का दान करें।

मीन-भाग्यवर्धक समय है। कुछ अच्छा होने वाला है। अद्भुत समय कहा जा सकता है इसको है। लक्ष्मी योग का निर्माण आपके लगन में हो रहा है। स्वास्तथ्य, प्रेम बहुत ही, आत्मप्रेम बहुत अच्छा है। फिर भी स्वास्तथ्‍य पर ध्‍यानन दें, वसीक आपकी लगननेश नीच का है। पीली वस्तु, भगवान विष्णु के अराधना करते रहें।

प्रस्तुति-
अजय कुमार सिंह
गोरखपुर।

Source link

NO COMMENTS

Leave a Reply