शनि 2021: शनि 14 फरवरी तक मकर राशि में रहेगा, इन दो राशियों के लिए बहुत शुभ है ज्योतिषीय भविष्यवाणियां पढ़ें

34

न्याय के देवता ग्रह कहे जाने वाले शनिदेव वर्ष 2021 में पूरे साल कड़ी राशि में ही रहेंगे। 22 जनवरी को यह नक्षत्र परिवर्तन कर विभिन्न राशियों पर प्रभाव डाल देगा। 22 जनवरी को शनि देव श्रवण नक्षत्र में प्रवेश कर रहे हैं। इससे पहले शनिदेव 14 फरवरी को मकर राशि में ही अस्त हो रहे हैं। शनि का अस्त होना बहुत ही महत्वपूर्ण घटना है। ऐसा कहा जाता है कि शनि की जिन राशियों पर शनि के अच्छे प्रभाव नहीं पड़ रहे हैं, उनके लिए शनि के प्रभाव कम हो जाएंगे। एक तरह से इसे शुभ माना जाता है।

ज्योतिष के विद्वानों की मानें तो वर्ष 2021 में शनिदेव मकर राशि में ही रहेंगे, लेकिन इसी राशि में सीधी और उल्टी चाल चलेंगे। शनि 23 मई 2021 को मंत्र राशि में व्रकी होकर 11 अक्टूबर 2021 को मार्गी हो जाएगा।

शनि २०२१ राशी परिवार: २०२१ में शनि का राशि परिवर्तन नहीं होगा, इन ३ राशियों पर शनि की साढ़ेसाती रहेगी।

मकर में प्रवेश के समय धनु राशि के लिए उतरती, मकर के लिए मध्य और कुम्भ राशि के लिए चढ़ती साढ़े साती रहेगी। इसके साथ ही न्यायिक और बकाया राशि वालों पर शनि की ढैय्या का असर पड़ेगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, शनि किसी भी राशि में ढाई साल के लिए रहते हैं। शनि की उतरती और चढ़ती साढ़ेसाती में शनि के प्रभाव पड़ते हैं।

शनि २०२१: वर्ष २०२१ में मकर राशि में ही रहेगा शनि, २२ जनवरी को शनि करेंगे नक्षत्र परिवर्तन, ये ५ राशी की चमकेगी किस्मत

शनि का अस्त होना अच्छा माना जाता है। वहीं गुरु का अस्त होना अच्छा नहीं माना जाता है। गुरु के अस्त होने से विवाह आदि जैसे कार्य नहीं किए जाते हैं। शनि के अस्त होने से विभिन्न राशियों पर प्रभाव पड़ेगा। शनि का अस्त होना सिंह और वृश्चिक राशि के लिए बहुत अच्छा रहेगा। शनि के अस्त होने से इन राशि के लोगों पर सफलता तो मिलेगी ही साथ ही उनके सभी बिगड़े काम भी बनते होंगे। शनि का प्रभाव कम होगा। इन दोनों राशियों को आय के साधन बढ़ेंगे और उन्हें सभी कार्यों में सफलता मिलेगी। सिंह और वृश्चिक राशि के लोगों के लिए नौकरी, परीक्षा में सफल होने के विशेष योग बन रहे हैं।

Source link

NO COMMENTS