सकट चौथ 2021: साक्षात चौथ का त्योहार भगवान गणेश के 12 नामों को याद कर रहा है

26

माघ मास की चतुर्थी तिथि को संक्रांति चतुर्थी व्रत रखा जाता है। इस दिन माता-पिता अपने बेटे की सलामती के लिए व्रत रखते हैं। इस बार संकष्टी चतुर्थी (सकट चौथ) 31 जनवरी को होगी। इस दिन तिलकूट का प्रसाद बनाकरबानवान गणेश को भोग लगाया जाता है। इस दिन तिल के लड्डू भी प्रसाद में बनाए जाते हैं।

सकत चौथ व्रत 2021: सकट चौथ पर करना चाहिए

माता-पिता गणेश जी की पूजा कर भगवान को भोग लगाकर कथा सुनती हैं। शाम को चंद्रमा के अर्घ्य देकर ही गणेश जी का व्रत संपन्न होता है। इस दिन कई जगह तिलकूट का पहाड़ बनाकर उसको भी काटे जाने की परंपरा है। सकट चौथ के दिन गणेश जी के संकटमाशक का पाठ करना इस दिन श्रेष्ठ रहता है। कहते हैं कि इस दिन भगवान गणेश जी की कम से कम 12 नामों का भी ध्यान करना चाहिए। ये भगवान गणेश के 12 नाम हैं

सुमुख, एकदंत, कपिल, गजकर्णक, लंबोदर, विकट, विघ्न-विनाश, विनायक, धूम्रकेतु, गणाध्यक्ष, भालचंद्र, गजानन।

सकट चौथ व्रत शुभ मुहूर्त–

सकट चौथ व्रत तिथि- 31 जनवरी, 2021 (रविवार)
सकट चौथ के दिन चन्द्रोदय समय – 20:40
चतुर्थी तिथि प्रारम्भ – 31 जनवरी, 2021 को 20:24 बजे
चतुर्थी तिथि समाप्त – फरवरी 01, 2021 को 18:24 बजे।

इसके अलावा त्र गं गणपतये नमः “मन्त्र से 17 बार गणेश जी को निम्न मन्त्र से दूर्वा अर्पित करने से सभी कष्ट दूर होते हैं।

Source link

NO COMMENTS