हनुमान जन्मोत्सव 2021 तिथि समय महत्व महत्व शुभ योग मुहूर्त पूजा का समय हनुमान जी की पूजा करने का सबसे अच्छा समय

37
Latest breaking news 

download the app here 

हनुमान जी कलगो में अमृत देव हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हनुमान जी को प्रसन्न करना काफी आसान होता है। हनुमान जी की कृपा से सभी तरह की मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। हर साल चैत्र शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को हनुमान जी का जन्मोत्सव मनाया जाता है। इसी पावन दिवस माता अंजनी की कोख से हनुमान जी ने जन्म लिया था। इस दिन को बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता है। इस वर्ष 27 अप्रैल, 2021, मंगलवार को हनुमान जन्मोत्सव मनाया जाएगा। ज्योतिष मान्यताओं के अनुसार इस बार हनुमान जन्मोत्सव पर दो योग बन रहे हैं।

इस बार दो योग बन रहे हैं

  • 27 अप्रैल 2021 को सिद्दि और व्यतिपात योग बन रहा है। हनुमान जन्मोत्सव के दिन शाम 8 बजकर 3 मिनट तक सिद्ध योग और उसके बाद व्यतिपात योग लग जाएगा।

सिद्धि योग कब लगता है?

  • वार, तिथि और नक्षत्र के मध्य समन्वयमेल होने पर सिद्धि योग का निर्माण होता है।

सिद्धि योग का महत्व

  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सिद्दि योग के स्वामी भगवान गणेश हैं। इस योग में किए गए कार्य बिना किसी विघ्न-बाधा के सफल हो जाते हैं। सिद्दि प्राप्ति के लिए इस योग को सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। इस बार हनुमान जी की पूजा करना शुभ और फलदायी होगा।

व्यति योग योग

  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस योग को शुभ नहीं माना जाता है, लेकिन इस समय में मंत्र जप, गुरु पूजा, उपवास आदि करने का महत्व बहुत अधिक होता है।

हनुमान जन्मोत्सव इन नक्षत्रों में मनाया जाएगा

  • हनुमान जन्मोत्सव के दिन शाम 8 बजकर 8 मिनट तक स्वाति नक्षत्र रहेगा। फिर विशाखा नक्षत्र लग जाएगा।

Source link

Latest breaking news 

download the app here 

NO COMMENTS